भारतीय जवानों ने मरोड़ डाली 18 चीनी जवानो की गर्दन

0
1293

भारतीय जवानों ने मरोड़ डाली 18 चीनी जवानो की गर्दन

नई दिल्‍ली: – भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऐसे अंदाज में चीन का नाम लिए बिना खुली धमकी दी थी. भारत शांति के मार्ग पर चलने वाला देश है, लेकिन अगर कोई भारत को उकसाने का प्रयास करता है तो उस पर कड़ा जवाब देने में कभी पीछे नहीं हटता और न हटेगा. वही रीति-नीति भारतीय  सैनिको की भी है.

भारतीय सैनिक एक हद तक विरोधियों को बर्दाश्त करती है, लेकिन जब विरोधी हद पार कर देते हैं तो फिर उन्हें कैसे भारतीय सैनिको का रौद्र रूप करा सामना करना पड़ता है, यह कोई चीनियों से पुछे. गलवान में 15 जून को चीनी सैनिको के धोकाधड़ी से किये गए हिंसक हमले में अपने कमांडिंग ऑफिसर कर्नल बी. संतोष बाबू के वीरगति पाने के बाद बाद बिहार रेजीमेंट के सैनिको का रौद्र और खतरनाख रूप सामने आ गया. एक अंग्रेजी दैनिक ने विभिन्‍न स्रोतों के हवाले से खबर दी है कि अपने सीओ की शहादत से गुस्साए भारतीय सैनिकों ने एक-एक कर 18 चीनी सैनिकों की गर्दनें तोड़ दीं.

भारतीय सैनिक 18 चीनी सैनिकों के गर्दनों की हड्डिया तोड़ चुके थे और उनके सर झूल रहे थे

एक सैन्य अधिकारी ने बताया कि भारतीय सैनिक 18 चीनी सैनिकों के गर्दनों को तोड़ चुके थे और उनका बुरा हाल कर दिया था. अपने कमांडर की वीरगति प्राप्त होने से भारतीय जवान इतने आक्रोशित हो गए थे  कि सामने आने वाले हर एक चीनी सैनिक का वो बुरा हाल किया कि उनकी पहचान कर पाना भी संभव नहीं हो पा रहा था. 

भारतीय सेना का घातक दस्ता पहुंचा मौके पर 

हिंसक झड़प में कमांडिंग ऑफिसर कर्नल बी. संतोष बालूके वीरगति पाने के बाद बिहार रेजीमेंट के जवानो का धैर्य का बांध टूट गया. चीनी सैनिकों की संख्या बहुत ज्यादा थी, जिसके बाद भारतीय फौज ने नजदीक की फाॅर्स को इस बारे में जानकारी दी और मदद मांगी. सुचना मिलने के बाद ही भारतीय सेनाकी ‘घातक’ फाॅर्स मदद के लिए वहां पहुंची. बिहार रेजीमेंट और घातक दस्ते के सैनिकों की कुल तादाद सिर्फ 60 थी और दूसरी तरफ दुश्मनों की ताढद काफी ज्यादा थी. 

भारतीय जवानों ने मरोड़ डाली 18 चीनी जवानो की गर्दन

5 पर 1 भारी, भारतीय सैनिको ने सिखाया न भूलने वाला सबक

उस रात बिहार रेजिमेंट के सैनिको ने जो बहादुरी और हिम्मत दिखाई है वो काबिले तारीफ़ है. उस रात चीनी सैनिकों की संख्या भारतीय सेना से 4 गुना अधिक थी. इतना ही नहीं, चीनी जवानो ने प्लान बनाकर हमला किया था जबकि भारतीय जवानो को चीनी जवानो के ऐसे धोके की आशंका नहीं थी और भारतीय जवानो की ऐसी कोई तैयारी नहीं कर रखी थी.

भारतीय जवानों ने मरोड़ डाली 18 चीनी जवानो की गर्दन

Leave a Reply